कांग्रेस पांच मंत्री पद पर अड़ी, इसलिए टला विस्तार, अब 28 को विस्तार की संभावना

News Desk

रांची : हेमंत सरकार की कैबिनेट का विस्तार शुक्रवार को होना था. गुरुवार दिन के 11:00 बजे मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू से इसके लिए समय भी ले लिया था. राजभवन के बिरसा मंडप में दोपहर एक बजे मंत्रियों के शपथ ग्रहण की तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी थीं, लेकिन शाम 6:15 बजे मुख्यमंत्री ने राज्यपाल से दोबारा मुलाकात की और कैबिनेट का विस्तार टालने का आग्रह कर दिया. मुख्यमंत्री ने करीब एक घंटे तक राज्यपाल से बातचीत की.

श्री सोरेन का कहना है कि प सिंहभूम में हुई घटना से वे मर्माहत हैं. इसीलिए उन्होंने फिलहाल मंत्रिमंडल का विस्तार टालने का आग्रह राज्यपाल से किया है.

राज्यपाल ने आग्रह स्वीकार कर लिया. इधर, गुरुवार देर शाम को ही राजनीतिक घटनाक्रम बदला और झाविमो के दो विधायक प्रदीप यादव व बंधु तिर्की नयी दिल्ली में कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलने पहुंच गये. कयास लगाया जा रहा है कि दोनों ही कांग्रेस में शामिल होंगे. यही वजह है कि अंतिम समय में कांग्रेस के दबाव में मंत्रिमंडल का विस्तार टाला गया. अब तक 16 विधायकों पर चार मंत्री पद कांग्रेस को मिल रहे थे, जबकि कांग्रेस पांच मंत्री पद पर अड़ी थी.

इधर, दो और विधायकों के आ जाने से कांग्रेस का पांच मंत्री पद का दावा मजबूत हो गया है. इसी को लेकर पेच फंस हुआ है. संभावना जतायी जा रही है कि हेमंत सरकार की कैबिनेट का विस्तार अब 28 जनवरी को होगा.

गुदड़ी प्रखंड की घटना की जानकारी भी दी : गुरुवार सुबह राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू से मिलने पहुंचे मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने पश्चिमी सिंहभूम के गुदड़ी प्रखंड के बुरुगुलीकेरा गांव में हुई सात लोगों की हत्या को लेकर बातचीत की. बताया कि एसआइटी गठित कर घटना की जांच करायी जा रही है. जो भी दोषी होंगे, उन्हें बख्शा नहीं जायेगा.

हेमंत सोरेन ने कहा- मन व्यथित है, इसलिए कैबिनेट विस्तार टालने का आग्रह किया

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जब गुरुवार शाम राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू से मिलने पहुंचे, तो कयास लगाया जा रहा था कि शायद वे मंत्रियों की सूची लेकर गये हैं. लेकिन राजभवन से बाहर निकलने के बाद मुख्यमंत्री ने पत्रकारों से कहा : गुदड़ी प्रखंड में हुई घटना से मैं काफी मर्माहत महसूस कर रहा हूं. सुबह राज्यपाल से मिला था. उन्होंने मंत्रिमंडल के शपथग्रहण के लिए शुक्रवार दोपहर एक बजे का समय दिया था. मैंने राज्यपाल को बताया था कि मैं बुरुगुलीकेरा गांव जा रहा हूं.

मैं घटनास्थल पर गया. वहां से लौटने के बाद राज्यपाल से मिला और उन्हें पूरी घटना की जानकारी दी. मैंने राज्यपाल से अनुरोध किया कि बुरुगुलीकेरा गांव में हुई सात ग्रामीणों की निर्मम हत्या से मन व्यथित है. इसलिए शुक्रवार को होनेवाला मंत्रियों का शपथ ग्रहण अगली तारीख तक के लिए टाल दिया जाये. एक तरफ लोग मारे गये हैं और दूसरी ओर शपथ ग्रहण करना मानवता के विरुद्ध होगा. राज्यपाल ने कहा कि वह मेरे इस आग्रह पर विचार करेंगी.

(साभार :प्रभातखबर)

Share this news
Next Post

विधानसभा सदस्य के रूप मेंएंग्लो इंडियन के कोटे से जोसेफ का नाम प्रस्तावित

रांची : हेमंत सरकार की कैबिनेट का विस्तार शुक्रवार को होना था. गुरुवार दिन के 11:00 बजे मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू से इसके लिए समय भी ले लिया था. राजभवन के बिरसा मंडप में दोपहर एक बजे मंत्रियों के शपथ ग्रहण की तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी […]