जीएम ने धनबाद को दिया इंतजार का आश्वासन, डेडीकेटेड फ्रेट कॉरीडोर के बाद मिलेगी दिल्ली की ट्रेन

News Desk

त्रिवेदी ने कहा है कि नई ट्रेन चलाने के लिए दूसरे जोन की भी सहमति और अन्य तकनीकी बाधाएं दूर करनी पड़ती है। उसके बाद रेलवे बोर्ड स्तर पर निर्णय लिए जाते हैं।

धनबाद । धनबाद से दिल्ली समेत दूसरी नई ट्रेनों का इंतजार कर रहे कोयलांचल को अभी कई साल और इंतजार करना होगा। पश्चिम बंगाल के डानकुनी से लुधियाना तक बनने वाले पूर्वी डेडीकेटेड फ्रेट कॉरीडोर के पूरा होने के बाद जब मालगाड़ियों के पाथ खाली होंगे, तब नई ट्रेनें पटरी उतरेंगी। इतना ही नहीं, धनबाद-चंद्रपुरा रेल लाइन पर डीसी पैसेंजर के चलने के लिए भी अभी लंबी प्रतीक्षा करनी पड़ सकती है। इस रेल मार्ग पर छोटे स्टेशन और हॉल्ट के इंटरलॉकिंग प्रणाली से जुड़ने के बाद ही डीसी पैसेंजर चलाई जा सकेगी। यह जानकारी पूर्व मध्य रेल के महाप्रबंधक ललित चंद्र त्रिवेदी ने दी।

त्रिवेदी ने कहा है कि नई ट्रेन चलाने के लिए दूसरे जोन की भी सहमति और अन्य तकनीकी बाधाएं दूर करनी पड़ती है। उसके बाद रेलवे बोर्ड स्तर पर निर्णय लिए जाते हैं। कहा कि फ्रेट कॉरीडोर तैयार होने के बाद मालगाड़ियों के लिए अलग ट्रैक उपलब्ध होंगे और मौजूदा ट्रैक पर नई ट्रेन चलाई जा सकेंगी। जीएम त्रिवेदी शुक्रवार को धनबाद दाैरे पर थे। उन्होंने कहा कि रेलवे के विकास के लिए 50 लाख करोड़ की आवश्यकता है और इसके लिए भी प्राइवेट ट्रेन उतारे जा रहे हैं। ट्रेन के साथ-साथ रेलवे स्टेशनों को मॉडर्न लुक देने के लिए भी निजी निवेश कर सकेंगे। मौके पर डीआरएम अनिल कुमार मिश्रा, सीनियर डीसीएम अखिलेश कुमार पांडेय, सीनियर कमांडेंट हेमंत कुमार समेत जोन और डिविजन के सभी अधिकारी मौजूद थे।

खास बातें

  • हावड़ा-नई दिल्ली के बीच 160 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से ट्रेन चलाने की योजना पर काम शुरू
  • 24 कोच के साथ चलाई जाएंगी सभी यात्री ट्रेनें
  • धनबाद की सभी ट्रेनें एक-एक कर एलएचबी कोच से लैस होंगी
  • अलेप्पी एक्सप्रेस को फुल रैक के साथ चलाने की होगी होगी कोशिश
  • (साभार :दैनिक जागरण)

    Share this news
    Next Post

    बाबूलाल ने UPA से तोड़ा नाता, बंधु तिर्की और प्रदीप यादव के कांग्रेस में जाने पर अब भी संशय

    त्रिवेदी ने कहा है कि नई ट्रेन चलाने के लिए दूसरे जोन की भी सहमति और अन्य तकनीकी बाधाएं दूर करनी पड़ती है। उसके बाद रेलवे बोर्ड स्तर पर निर्णय लिए जाते हैं। धनबाद । धनबाद से दिल्ली समेत दूसरी नई ट्रेनों का इंतजार कर रहे कोयलांचल को अभी कई […]