सरकार ने भारती एयरटेल में 100 फीसद FDI की मंजूरी दी

News Desk

इसमें 21682 करोड़ रुपये लाइसेंस शुल्क और 13904.01 करोड़ रुपये स्पेक्ट्रम बकाया है। इसमें टेलीनॉर और टाटा टेली के बकाये शामिल नहीं हैं।

नई दिल्ली । दूरसंचार विभाग ने भारती एयरटेल में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FDI) 49 फीसद से बढ़ाकर 100 फीसद करने की मंजूरी दे दी है। कंपनी ने मंगलवार को इस बारे में शेयर बाजार को जानकारी दी। भारती एयरटेल को रिजर्व बैंक से भी कंपनी में विदेशी निवेशकों को 74 फीसद तक हिस्सेदारी रखने की अनुमति है। शेयर बाजार को दी गई जानकारी के अनुसार, ‘भारती एयरटेल लिमिटेड को दूरसंचार विभाग से 20 जनवरी 2020 को विदेशी निवेश की सीमा बढ़ाकर कंपनी की चुकता पूंजी के 100 फीसद तक करने की मंजूरी मिल गयी है।’

कुछ दिन पहले ही कंपनी ने वैधनिक बकाये के रूप में करीब 35,586 करोड़ रुपये का भुगतान किया। इसमें 21,682 करोड़ रुपये लाइसेंस शुल्क और 13,904.01 करोड़ रुपये स्पेक्ट्रम बकाया है। इसमें टेलीनॉर और टाटा टेली के बकाये शामिल नहीं हैं।

(साभार :दैनिक जागरण)

Share this news
Next Post

ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की सुनवाई सीनेट में आरोप-प्रत्यारोप के बीच शुरू

इसमें 21682 करोड़ रुपये लाइसेंस शुल्क और 13904.01 करोड़ रुपये स्पेक्ट्रम बकाया है। इसमें टेलीनॉर और टाटा टेली के बकाये शामिल नहीं हैं। नई दिल्ली । दूरसंचार विभाग ने भारती एयरटेल में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FDI) 49 फीसद से बढ़ाकर 100 फीसद करने की मंजूरी दे दी है। कंपनी ने […]