बाबूलाल मरांडी के साथ है पूरी पार्टी, सिर्फ प्रदीप व बंधु भाजपा में जाने का कर रहे विरोध

News Desk

झाविमो के निर्वतमान जिलाध्यक्ष बोले जहां मरांडी वहां हम हैं। पार्टी नेताओं को बाबूलाल के स्पष्ट रुख का इंतजार है।

रांची । झाविमो प्रमुख बाबूलाल मरांडी के साथ उनके विधायक खड़े हों या न हों लेकिन उनकी पूरी पार्टी दृढ़ता के साथ उनके साथ खड़ी है। झाविमो की कार्यसमिति भंग है लेकिन न तो बाबूलाल की लोकप्रियता में कमी आई है और न ही उनके नेतृत्व पर कोई सवाल उठा रहा है। झाविमो के सभी जिलों के निर्वतमान जिलाध्यक्षों ने एक स्वर में कहा है कि जहां बाबूलाल वहां हम। हालांकि जिले के तमाम शीर्ष नेताओं को बाबूलाल मरांडी के स्पष्ट रुख का इंतजार है।

गुरुवार को पार्टी की संभावित बैठक का सभी को इंतजार है। स्पष्ट है झाविमो के भीतर विधायकों के स्तर से विवाद पैदा कर कितनी भी हवा दी जाए लेकिन इस सच से कोई इन्कार नहीं कर सकता कि बाबूलाल ही अपनी पार्टी के भीतर सर्वमान्य नेता हैं। बाबूलाल जहां जाएंगे उनका कुनबा उनके साथ हो लेगा। निर्वतमान जिलाध्यक्षों से बात करने पर खुलकर यह तथ्य सामने आए।

हालांकि, पार्टी के निर्वतमान जिलाध्यक्षों को इस बात की जानकारी नहीं है कि पार्टी के भीतर चल क्या रहा है। लेकिन अधिकतर भाजपा और झाविमो के विलय के पक्षधर हैं और ऐसा मानते हैं कि यह विलय दोनों ही पार्टियों के हित में होगा। वहीं, चतरा के निवर्तमान जिलाध्यक्ष नागेश्वर सिंह जैसे नेता विलय की पूरी प्रक्रिया को हवा-हवाई बताते हैं। पार्टी के निवर्तमान जिलाध्यक्षों से बातचीत में एक तथ्य और सामने आया है कि कई जिलों की टॉप लीडरशिप को बाबूलाल मरांडी ने विदेश जाने से पहले ही विश्वास में ले लिया था।

झाविमो के निर्वतमान जिलाध्यक्षों ने क्या कहा

हमारे नेता बाबूलाल मरांडी जहां जाएंगे हम उनके साथ रहेंगे। उनके हर आदेश का पालन किया जाएगा। -अमृत पांडेय, निवर्तमान जिलाध्यक्ष पाकुड़।

इस संदर्भ में पार्टी प्रमुख से बात नहीं हुई है लेकिन इसके बाद भी यदि वह पार्टी बदलते हैं, तो पूरी कमेटी उनके साथ है। -तिलेश्वर राम, निवर्तमान जिलाध्यक्ष चतरा, झाविमो।

पूरी कमेटी बाबूलाल मरांडी के साथ है। दोनों के मिलन से भाजपा व बाबूलाल मरांडी दोनों मजबूत होंगे। -तुलसी साहू, निवर्तमान जिलाध्यक्ष, सिमडेगा।

हम लोग बाबूलाल जी के साथ हैं। उनके हर निर्णय को मानेंगे। -प्रकाश पंडित-चंद्रभान शर्मा, निवर्तमान महासचिव व सचिव साहिबगंज।

अभी विलय की बात हवा हवाई है। वैसे बाबूलाल जी का जो भी निर्णय होगा हम उनके साथ जाएंगे। -नागेश्वर सिंह, निवर्तमान जिलाध्यक्ष देवघर।

पूरी कमेटी बाबूलाल मरांडी के साथ है। बाबूलाल जो भी निर्णय लेंगे, एक-एक कार्यकर्ता को वह मंजूर होगा। -महेश राम, निवर्तमान जिलाध्यक्ष, गिरिडीह।

बाबूलाल मरांडी का जो भी निर्णय होगा पार्टी कार्यकर्ता उनके साथ है। बावजूद, 16 जनवरी को रांची में पार्टी कार्यालय में होने वाली हर जिला के वरीय नेताओं की बैठक में अंतिम निर्णय सर्वसम्मति से लिया जाएगा। -सुरेंद्र राज, निवर्तमान जिलाध्यक्ष, बोकारो।

जिला के सभी पार्टी कार्यकर्ता उनके साथ हैं। अगर बाबूलाल मरांडी भाजपा में शामिल होते हैं तो जिले की सभी कमेटी का भाजपा में विलय होगा। -शंभू मंडल, निवर्तमान जिलाध्यक्ष सरायकेला-खरसावां।

बाबूलाल जिस पार्टी में जाएंगे उनके साथ रहेंगे। इस बारे में कई जिला अध्यक्ष लिखित रूप से उन्हें सूचित कर चुके हैं। -ज्योतेंद्र प्रसाद साहू, निवर्तमान जिलाध्यक्ष, रामगढ़।

केंद्रीय कार्यसमिति की तरफ से ऐसा कुछ नहीं कहा गया है। केंद्रीय कमेटी जो निर्णय लेगी, तब सोचा जाएगा। -सुनील हांसदा, निवर्तमान जिलाध्यक्ष जामताड़ा।

पार्टी के सुप्रीमो बाबूलाल मरांडी की ओर से जो भी निर्णय लिया जाएगा, हम लोग पार्टी के साथ हैं। -समशूल होद्दा, निवर्तमान जिलाध्यक्ष, लातेहार।

बाबूलाल मरांडी के प्रति हमारी पूरी आस्था है। उनका हर निर्णय मेरे लिए सर्वमान्य होगा। -सूरज कुमार गुप्ता, निवर्तमान जिलाध्यक्ष, गढ़वा।

कोडरमा जिला के 80 फीसद कार्यकर्ता व नेता बाबूलाल मरांडी के निर्णय के साथ रहेंगे। -बेदू साव, निवर्तमान जिलाध्यक्ष, कोडरमा।

बाबूलाल मरांडी के साथ में रांची में गुरुवार को मुलाकात का समय तय है। इसके बाद आगे की रणनीति तय की जाएगी। बंधु तिर्की का भी लोहरदगा आने का कार्यक्रम है। बंधु तिर्की के आने के बाद भी स्थिति साफ हो सकती है। -पवन तिग्गा, निवर्तमान जिलाध्यक्ष, लोहरदगा।

बाबूलाल मरांडी हमारे सर्वमान्य नेता हैं। वे राज्य या राष्ट्र हित में जो भी निर्णय लेंगे, हम उनके साथ हैं। -बबुआ सिंह, निवर्तमान जिलाध्यक्ष, जमशेदपुर।

बाबूलाल मरांडी भाजपा में शामिल हो जाएंगे तो पश्चिम सिंहभूम जिला स्तरीय पार्टी के सभी पदाधिकारियों की बैठक होगी। उस बैठक में जो निर्णय होगा वही सर्वमान्य रहेगा। -राकेश कुमार शर्मा, जिलाध्सक्ष झाविमो पश्चिम सिंहभूम।

यदि बाबूलाल भाजपा में चले गए तो हम अपने कार्यकर्ताओं से विचार-विमर्श करने के बाद कोई निर्णय लेंगे। हम वेट एंड वाच की स्थिति में हैं। -दिलीप मिश्रा, जिलाध्यक्ष झाविमो, खूंटी।

जुदा है गोड्डा की स्थिति

गोड्डा में झाविमो जिला कमेटी के अध्यक्ष सहित पूरी कमेटी ने विधानसभा चुनाव के पूर्व ही केंद्रीय नेतृत्व को इस्तीफा सौंप दिया था। जिलाध्यक्ष धनंजय यादव ने ऐन चुनाव के वक्त पार्टी को अलविदा कह महागामा विस के एक निर्दलीय प्रत्याशी निरंजन पोद्दार के साथ हो लिए थे। लेकिन पोद्दार का पर्चा रद हो गया और जेवीएम की पूरी कमेटी वहां कांग्रेस प्रत्याशी के पक्ष में उतर गई थी। पोड़ैयाहाट विधायक प्रदीप यादव को लेकर भी स्थिति बहुत साफ नहीं है।

(साभार :दैनिक जागरण)

Share this news
Next Post

स्थानीय नीति के बहाने बड़ा निशाना साधने की तैयारी में शिबू सोरेन, 1932 के खतियान का मुद्दा फिर गरमाया

झाविमो के निर्वतमान जिलाध्यक्ष बोले जहां मरांडी वहां हम हैं। पार्टी नेताओं को बाबूलाल के स्पष्ट रुख का इंतजार है। रांची । झाविमो प्रमुख बाबूलाल मरांडी के साथ उनके विधायक खड़े हों या न हों लेकिन उनकी पूरी पार्टी दृढ़ता के साथ उनके साथ खड़ी है। झाविमो की कार्यसमिति भंग […]