TB की जांच करने वाली मशीन से पकड़ में आएगा कोरोना वायरस, ICMR ने दी मंजूरी

News Desk

ट्यूबरकुलॉसिस की टेस्टिंग के लिए इस्तेमाल होने वाली मशीन अब कोविड-19 की जांच के लिए भी इस्तेमाल की जाएगी।

नई दिल्ली । ट्यूबरकुलॉसिस (TB) के टेस्टिंग में इस्तेमाल किए जाने वाले डायग्नॉस्टिक मशीनों (Diagnostic machines) का इस्तेमाल अब कोविड-19 मामलों की पुष्टि व स्क्रीनिंग के लिए किया जाएगा। यह जानकारी शीर्ष स्वास्थ्य रिसर्च निकाय , भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) ने दी। टेस्टिंग क्षमता को बढ़ाने के लिए अपने प्रयासों के तौर पर ICMR ने 10 अप्रैल को ट्रूनैट (TrueNat) सिस्टम का इस्तेमाल कोविड-19 की जांच के लिए प्रयुक्त करने की मंजूरी दी थी। अब ICMR ने इसके लिए संशोधित गाइडलाइन जारी किया है। साथ ही कहा है, ‘यह सिस्टम अब कोविड-19 की पुष्टि व स्क्रीनिंग के लिए इस्तेमाल की जाएगी।’

इस मशीन से जांच में अधिकतम 35 से 45 मिनट का समय लगेगा। यह आधुनिक मशीन बगैर बिजली के भी चलाई जा सकती है। मशीन में बैटरी है जो एकबार चार्ज होने पर 45 मिनट तक बैकअप देता है। यदि दो शिफ्टों में जांच के लिए टेक्निशियन लगाया जाए तो एक दिन में 30 से 40 नमूनों की जांच पूरी की जा सकती है।

(साभार : दैनिक जागरण)

Share this news
Next Post

दिल्ली की रोहिणी जेल के असिस्टेंट सुपरिंटेंडेंट कोरोना पॉजिटिव, कई लोगों के संपर्क में आने की आशंका

ट्यूबरकुलॉसिस की टेस्टिंग के लिए इस्तेमाल होने वाली मशीन अब कोविड-19 की जांच के लिए भी इस्तेमाल की जाएगी। नई दिल्ली । ट्यूबरकुलॉसिस (TB) के टेस्टिंग में इस्तेमाल किए जाने वाले डायग्नॉस्टिक मशीनों (Diagnostic machines) का इस्तेमाल अब कोविड-19 मामलों की पुष्टि व स्क्रीनिंग के लिए किया जाएगा। यह जानकारी […]