कोल्हान प्रमंडल में अब तक 650 पॉजिटिव केस, दो मरीजों की मौत; पूर्वी सिंहभूम जिले में अकेले 503 संक्रमित

News Desk

कोल्हान प्रमंडल के तीन जिलों में अब तक 387 हो चुके हैं स्वस्थ जबकि अब 273 एक्टिव केस

जमशेदपुर/चाईबासा/खरसावां. कोल्हान प्रमंडल के तीन जिलों पूर्वी सिंहभूम, पश्चिमी सिंहभूम और सरायकेला-खरसावां में अब तक 650 कोरोनावायरस के संक्रमित मरीज मिल चुके हैं। इनमें 387 मरीज स्वस्थ होकर घर लौट चुके हैं जबकि प्रमंडल के तीनों जिलों में अब 273 कोरोना के एक्टिव केस रह गए हैं। स्वस्थ होने वाले मरीजों में पूर्वी सिंहभूम के 294, पश्चिमी सिंहभूम के 58 और सरायकेला-खरसावां के 35 मरीज शामिल हैं।

रविवार को पूर्वी सिंहभूम से 15 जबकि सरायकेला-खरसावां से चार नए कोरोना के मरीज मिले हैं। टाटा स्टील की सहायक कंपनी टाटा पिगमेंट के एक साथ 13 कर्मचारी सहित जिले में रविवार को 15 नए कोरोना पॉजिटिव मिले। जिले में मरीजों का आंकड़ा 55 दिन में ही 500 के पार पहुंच गया है। कंपनी के संक्रमित प्रोडक्शन, मेंटेनेंस व टेक्निकल सर्विसेस के हैं। अन्य दो मरीजों में से एक टिस्को स्टाफ तथा दूसरा पटमदा का हैं। ये सभी लोग घर से ड्यूटी कर रहे थे। इसलिए मरीजों के घर के आसपास कंटेनमेंट जोन बनाया जाएगा। हालांकि, कंपनी के कर्मचारी के पॉजिटिव मिलने के बाद 3 जुलाई से ही कंपनी बंद थी। कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम का निर्देश था। हालांकि कंपनी प्रबंधन की ओर से इस संबंध में कोई आधिकारिक जानकारी नहीं दी गई है।

कर्मचारियों के अनुसार शुक्रवार सुबह प्रबंधन की ओर से वर्क फ्रॉम होम का निर्देश जारी कर वापस लौटा दिया गया। टाटा पिगमेंट के संदिग्ध सभी 13 मरीजों को टीएमएच में एडमिट कर 3 जुलाई को सैंपल लेकर जांच किया गया। पोटका का मरीज 29 जून को ओडिशा से शहर आया था और क्वारैंटाइन सेंटर में था। कंपनी के संक्रमितों में सोनारी, कीताडीह, मानगो के 1, 5 बारीडीह, 3 बागबेड़ा तथा 2 जुगसलाई के हैं। वहीं टाटा स्टील का कर्मचारी परसुडीह का रहने वाला है।

उधर, कोल्हान प्रमंडल के पश्चिमी सिंहभूम जिले में अब तक 69 कोरोना संक्रमित मिले हैं। जिले के सभी संक्रमितों को कोविड 19 स्पेशलिस्ट रेलवे अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती किया गया है। वहीं सरायकेला खरसावां जिले में अब तक 78 कोरोना संक्रमित मिले हैं। सभी प्रवासी मजदूर हैं। सभी संक्रमितों को कोविड-19 अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

500 पॉजिटिव केस वाला देश का 164वां जिला, अच्छी बात… डेथ रेट 0.3%
पूर्वी सिंहभूम में 55 दिन में 500 से अधिक मरीज मिले। यह देश का 164वां जिला बन गया है। सुकून देनेवाली बात यह है कि यहां मरीजों के ठीक होने की रफ्तार अच्छी है। अब तक सिर्फ 2 पॉजिटिव की मौत हुई है। जिले में मरीजों का डेथ रेट 0.39% है। जबकि राज्य का डेथ रेट 0.67 % और देश का 2. 86% है। जिले में मरीजों की मरने का प्रतिशत राज्य और देश दोनों से कम है। जबकि रांची में अब तक 9 मरीज दम तोड़ चुके हैं। देश के 164 जिले ऐसे हैं जहां संक्रमण के 500 से अधिक मामले आ चुके हैं। इनमें पूर्वी सिंहभूम सहित कुल 10 जिलों में मौतों का आंकड़ा काफी कम है। वहीं, 6 जिले ऐसे हैं जहां मरीजों की संख्या 500 से अधिक है, लेकिन एक भी मौत नहीं हुई। 2 मौत के साथ पूर्वी सिंहभूम कम मौत वाले जिलों में 10वें नंबर पर है। विशेषज्ञ बताते हैं कि कोराना से ज्यादातर मौत वैसे लोगों की हुई हैं जिन्हें पहले से कोई गंभीर बीमारी है या फिर उनकी उम्र अधिक है।

(साभार : दैनिक भास्कर )

Share this news
Next Post

राज्य में मिले 53 नए कोरोना संक्रमित, राज्य में मरीज 2752 से बढ़कर 2805 हो गए है

कोल्हान प्रमंडल के तीन जिलों में अब तक 387 हो चुके हैं स्वस्थ जबकि अब 273 एक्टिव केस जमशेदपुर/चाईबासा/खरसावां. कोल्हान प्रमंडल के तीन जिलों पूर्वी सिंहभूम, पश्चिमी सिंहभूम और सरायकेला-खरसावां में अब तक 650 कोरोनावायरस के संक्रमित मरीज मिल चुके हैं। इनमें 387 मरीज स्वस्थ होकर घर लौट चुके हैं […]